Diabetic Patients : डायबिटीज मरीजों के लिए किसी इंसुलिन से कम नहीं ये एक चीज, ऐसे करें सेवन.

Health Benefits of Jungle Jalebi: जंगली जलेबी में स्वाद और सेहत के गुण दोनों ही भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। इसलिए इसे डायबिटीज समेत कई तरह की बीमारियों में औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। जंगली जलेबी में विटामिन सी, विटामिन बी1, बी2, बी3, विटामिन के, आयरन, कैल्शियम, फास्फोरस, प्रोटीन, आहार फाइबर, सोडियम और विटामिन ए भी पाया जाता है।
जंगली जलेबी (Madras Thorn) एक फल है, जो जलेबी की तरह घुमाउदार होता है और जंगलों में ज्यादा पाया जाता है। इसलिए इसे जंगली जलेबी कहते हैं। वैसे इसके और भी कई नाम है, जिसमें मीठी इमली, गंगा जलेबी, मद्रास थ्रोन, गुआमुचिल शामिल है। यह फल खाने में बहुत स्वादिष्ट होने के साथ ही सेहतमंद फायदों से भरपूर होता है। कई तरह की बीमारियों में भी सकारात्मक प्रभाव दिखाता है। शहरों में रहने वाले लोग शायद ही इस फल के बारे में जानते हों लेकिन गांव के लोग इसे बड़े ही चाव से खाना पसंद करते हैं।

जंगली जलेबी के औषधीय गुण?एनसीबीआई के अनुसार, पौधे के अर्क के विभिन्न भागों में एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-माइक्रोबियल, एंटी-डायबिटिक, कार्डियो प्रोटेक्टिव, एंटी-डायरियल, एंटी-अल्सरोजेनिक, लार्विसाइडल और ओविसाइडल गुण मौजूद होते हैं। इसके साथ ही इसमें बायोएक्टिव फाइटोकंपाउंड जैसे फ्लेवोनोइड्स, सैपोनिन, टैनिन, अल्कलॉइड आदि भी पाया जाता है। इसके अलावा इसमें विटामिन सी, विटामिन बी1, बी2, बी3, विटामिन के, आयरन, कैल्शियम, फास्फोरस, प्रोटीन, आहार फाइबर, सोडियम और विटामिन ए भी उपस्थित होता है।

​शुगर को करता है कंट्रोल
डायबिटीज में जंगली जलेबी का सेवन फायदेमंद माना जाता है। जंगल जलेबी फली के अर्क का रस एंटी-हाइपरग्लाइसेमिक गुणों को प्रदर्शित करने के लिए जाना जाता है। जो टाइप 2 मधुमेह मेलिटस से पीड़ित लोगों में ब्लड शुगर के लेवल को कम करने का काम करता है। इस प्रकार, ब्लड शुगर को नियंत्रण में रखने के लिए मधुमेह रोगी नियमित रूप से इसका सेवन कर सकते हैं।

​गंदे कोलेस्ट्रॉल के लेवल को रखता है कम
जंगली जलेबी में मौजूद खून में गंदे LDLकोलेस्ट्रॉल को कम करने के साथ ही अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का काम करता है। साथ ही इसमें मौजूद पौटेशियम हार्ट को हेल्दी बनाए रखने का काम करता है। ऐसे में यह फल हार्ट के मरीजों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

​इम्यूनिटी बढ़ाता है
जंगल में उगने वाला जलेबी की तरह दिखने वाला यह फल कई तरह के एंटी-ऑक्सीडेंट से भरा होता है। जो शरीर की रोगों और वायरस से लड़ने की क्षमता को बढ़ाने का काम करता है।

​सूजन को कम करता है
जंगली जलेबी में एंटी-इंफ्लेमेंटरी गुण भी पाया जाता है। यह गुण ब्लड में युरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रित करने में मददगार साबित हो सकता है। ऐसे में यदि आप गठिया से ग्रसित हैं, तो यह फल आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

ऐसे करें सेवन
जंगली जलेबी को अन्य फलों की तरह छिलकर खा सकते हैं, ध्यान रखें की इसका बीज पेट में न जाएं। इसके अलावा कुछ लोग इसे सूखाकर या इसका मुरब्बा बनाकर भी खाते हैं।

इन लोगों को करना चाहिए जंगली जलेबी से परहेज
जंगली जलेबी में कई औषधिय गुण मौजूद होते हैं, लेकिन फिर कुछ लोगों को इसके सेवन से बचना चाहिए। इस कैटगरी में गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओएं मुख्य रूप से शामिल होती है। साथ ही किसी क्रोनिक मेडिकल कंडीशन से ग्रसित व्यक्ति को इसके सेवन से पहले डॉक्टरी सलाह जरूर लेनी चाहिए।

%d bloggers like this: