How to reduce LDL bad cholesterol : ये 5 चीजें खून में तेजी से कोलेस्ट्रॉल बढ़ाती हैं हार्ट अटैक से बचना है तुरंत छोड़ दें खाना.

How to reduce LDL bad cholesterol : कोलेस्ट्रॉल के कारण बड़ी बीमारियों, जैसे दिल की बीमारी और दौरे का जोखिम बढ़ जाता है। रोजाना खाई जाने वाली कई चीजें शरीर में ट्राइग्लिसराइड और कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ा सकती हैं। इन चीजों में विटामिन, मिनरल्स, प्रोटीन, और सेहतमंद फैट की कमी होती है। आपको इनके सेवन से बचना चाहिए।

भारत में हर साल लाखों लोगों का कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) बढ़ जाता है, जिसके कारण उन्हें बड़ी बीमारियों, जैसे दिल की बीमारी और दौरे का जोखिम बढ़ जाता है। कोलेस्ट्रॉल एक मोम जैसे पदार्थ होता है, जिसकी जरूरत शरीर में हार्मोन, विटामिन और नई कोशिकाओं के उत्पादन के लिए होती है।

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के नुकसान? शरीर में बहुत ज्यादा कोलेस्ट्रॉल का होना भी नुकसानदायक हो सकता है क्योंकि इसकी वजह से रक्तवाहिनियों में वसा जम सकता है और नसों में पर्याप्त खून का पहुंचना मुश्किल हो सकता है। जमा हुआ वसा अचानक फटकर थक्का बना सकता है, जिसके हृदय में पहुंचने पर दिल का दौरा पड़ सकता है।

खाने में ऐसी सेहतमंद और पोषणयुक्त खाद्य सामग्री शामिल करें, जो लो-डेंसिटी लाइपोप्रोटीन (एलडीएल) कोलेस्ट्रॉल का स्तर प्राकृतिक रूप से घटा दे। ज्यादा मात्रा में सैचुरेटेड फैट लेने से बचे क्योंकि इससे खून में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ाता है।

तली-भुनी चीजें
ज्यादा तली भुनी चीजों से खाद्य पदार्थ में ऊर्जा का घनत्व और कैलोरी की मात्रा बढ़ती है और वो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक बन जाती हैं। इसलिए खाना बनाने के लिए एक सेहतमंद खाद्य तेल या फिर एयर फ्रायर का इस्तेमाल करें। लोगों को तली-भुनी चीजें कभी-कभी ही खानी चाहिए क्योंकि उनमें बहुत ज्यादा कैलोरी होती है और उनमें ट्रांस फैट भी हो सकता है। ट्रांस फैट कई अलग-अलग तरह से स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। तला भुना खाने से दिल की बीमारी, मोटापा और डायबिटीज होने का जोखिम भी रहता है।

केक, कुकीज़ और आइसक्रीम
ब्राउनी, कुकीज़, केक, और आईस्क्रीम जैसे डेज़र्ट्स में सैचुरेटेड फैट, शुगर एवं अन्य रिफाइंड कार्ब होते हैं। इनमें से कोई भी चीज ज्यादा खाने से शरीर में ट्राइग्लिसराइड और कोलेस्ट्रॉल बढ़ सकते हैं, जिससे दिल की बीमारी होने का जोखिम बढ़ जाता है। ये चीजें अक्सर खाने से आपकी सेहत को नुकसान होता है और वजन बहुत ज्यादा बढ़ सकता है। इन चीजों में विटामिन, मिनरल्स, प्रोटीन, और सेहतमंद फैट की कमी होती है, जो शरीर को सुचारू रूप से काम करने के लिए जरूरी होते हैं।

प्रोसेस्ड मीट
सॉसेज़, बेकन, एवं अन्य प्रोसेस्ड मीट में कोलेस्ट्रॉल बहुत ज्यादा मात्रा में होता है। बेकन, सॉसेज़ और हॉट डॉग बनाने के लिए आम तौर से अत्यधिक फैट वाले मांस का इस्तेमाल होता है। ये चीजें बहुत ज्यादा मात्रा में खाने से दिल की बीमारियां और कोलोन कैंसर जैसे कैंसर हो सकते हैं। प्रोसेस्ड मीट में पोषण कम और नमक की मात्रा ज्यादा होती है, इसलिए इसके सेवन से बचना चाहिए। यदि कोई प्रोसेस्ड मीट खाना ही चाहता हो, तो लीन टर्की या चिकन से बना डेली मीट खाया जा सकता है।

बेक्ड फूड
बेक की गई खाद्य सामग्री में मक्खन और शुगर काफी अधिक मात्रा में होते हैं, जिनमें काफी ज्यादा कोलेस्ट्रॉल पाया जाता है। इन चीजों में काफी ज्यादा एलडीएल होता है, जो एथेरोस्क्लेरोसिस कर सकता है। इस बीमारी में रक्तवाहिनियों में प्लाक (कोलेस्ट्रॉल, फैट, कैल्शियम, एवं खून में पाए जाने वाले अन्य तत्वों से बना) जम जाता है, जिससे महत्वपूर्ण अंगों को खून के प्रवाह में रुकावट आती है। इसलिए इन चीजों के सेवन से बचना चाहिए।

जंक फूड
जंक फूड खाने से डायबिटीज, दिल की बीमारी और मोटापा जैसे अनेक पुराने रोग हो जाने की संभावना बहुत बढ़ जाती है। जो लोग जंक फूड खाते हैं उनमें ज्यादा कोलेस्ट्रॉल, पेट में ज्यादा चर्बी, ज्यादा सूजन, और खून में शुगर पर कम नियंत्रण पाया जाता है।