Papaya Side Effects : इन समस्याओं में भी नुकसानदायक है पपीते का सेवन बढ़ सकती है समस्या.

Papaya Side effects: विटामिन, फाइबर और मिनरल्स से भरपूर पपीता एक ऐसा फल है साल के बारह महीने मिलता है। इसके सेवन से वजन आसानी से कम किया जा सकता है। और तो और पपीता डायबिटीज, हार्ट और कैंसर के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद फल है। फल के रूप में खाने के अलावा इसे सलाद और जूस की तरह भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इतने सारे फायदों से भरपूर होने के बाद भी पपीते का सेवन कुछ लोगों के लिए नुकसानदायक होता है। तो अगर आप भी जूझ रहे हैं यहां बताई जा रही परेशानियों से, तो पपीते का भूलकर भी न करें सेवन।

प्रेगनेंसी के दौरान
पपीते का सेवन प्रेगनेंट महिलाओं को बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि कच्चे या आधा पके हुए पपीते में लेटेक्स और पेपेन होता है जो पेट में पल रहे बच्चे के लिए नुकसानदायक होता है। इस वजह से प्री मैच्योर डिलीवरी हो सकती है।

किडनी स्टोन में
किडनी स्टोन के मरीजों को भी पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए। पपीता में विटामिन सी की मात्रा होती है। जिसके बहुत ज्यादा सेवन से स्टोन की समस्या बढ़ सकती है। पपीता खाने से कैल्शियम ऑक्सलेट की सिचुशन उत्पन्न हो सकती है किडनी में मौजूद स्टोन बड़ा भी हो सकता है।

किसी तरह की एलर्जी हो
पपीते का सेवन उन लोगों के लिए भी नुकसानदायक है जो किसी तरह की एलर्जी का शिकार हैं। पपीता में चिटिनेज एंजाइम होता है। जो लेटैक्स के साथ रिएक्शन कर सकता है। इस वजह से छींक के साथ, सांस लेने में तकलीफ और आंखों की समस्या का खतरा भी बढ़ सकता है।

हाइपोग्लाइसीमिया के मरीज
उन लोगों का भी पपीता नहीं खाना चाहिए जिनका ब्लड शुगर कम रहता है। मतलब हाइपोग्लाइसीमिया के मरीजों को। ऐसा इसलिए है क्योंकि इसमें एंटी-हाइपोग्लाइसेमिक यानी ग्लूकोज कम करने वाले तत्व मौजूद होते हैं। जो स्थिति को खतरनाक बना सकते हैं।