Difficulty In Breathing : इस गंभीर बीमारी का है इशारा सांस लेने में तकलीफ होना.

फेफड़े (Lungs) शरीर का एक नाजुक अंग होते हैं. ठंड, निमोनिया और विषाक्त पदार्थों की वजह से फेफड़ों में परेशानी होने लगती है. कई बार फेफड़ों में पानी भर जाता है और हमें पता तक नहीं लगता है. फेफड़ों में पानी का भरना एक गंभीर परेशानी है इसे पल्मोनरी एडिमा (Pulmonary Edema) कहते हैं. आइए जानते हैं कि फेफड़ों में पानी भरने पर कौन से लक्षण दिखाई देते हैं और इस परेशानी को किन तरीकों की मदद से दूर किया जा सकता है.

पल्मोनरी एडिमा के लक्षण
फेफड़ों में पानी भर जाए तो कई सारी दिक्कतें होने लगती हैं. फेफड़ों में पानी भरने की परेशानी हो तो सांस लेने में तकलीफ, छाती में दर्द, चिंता और बेचैनी, खांसी, ज्यादा पसीना आना, दिल की धड़कन बढ़ना, सांस लेते समय घरघराहट की आवाज और घुटन जैसे शुरुआती लक्षण दिखाई देते हैं. परेशानी ज्यादा बढ़ने पर जल्दी सांस फूलने लगती है और पैरो में सूजन दिखाई देने लगती है.

कैसी लें डाइट
पल्मोनरी एडिमा (Pulmonary edema) की परेशानी होने पर हेल्दी डाइट लेनी चाहिए. खाने में पोषण से भरपूर चीजें शामिल करनी चाहिए. ताजे फल, हरी सब्जियां, अंडे, चिकन, मछली, नट्स, फलियां और ड्रायफ्रूट जैसी चीजों का सेवन करना चाहिए. लहसुन, नींबू और काली मिर्च जैसे मसालों का सेवन फायदेमंद होता है.

क्या न खाएं
अगर फेफड़ों में पानी भर गया है और सांस लेने में तकलीफ जैसे लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो नमक का सेवन कम कर देना चाहिए. चूंकि सोडियम की ज्यादा मात्रा फेफड़ों को नुकसान पहुंचा सकती है. फेफड़ों में पानी भरने पर ठंडी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए, ये सेहत पर भारी पड़ सकता है.

शराब-धूम्रपान से रहें दूर धूम्रपान और शराब फेफड़ों की बीमारी का सबसे बड़ी वजहें हैं. फेफड़ों में दिक्कत होने पर सिगरेट, शराब और बीड़ी से दूर रहना चाहिए, नहीं तो स्थिति कंट्रोल के बाहर हो सकती है. ये सब बचाव के तरीके जरूरी हैं लेकिन तकलीफ होने पर तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए.

%d bloggers like this: