home remedies to stop snoring : खर्राटे बंद करने के लिए अपनाएँ ये घरेलू उपाय.

खर्राटे लेने (snoring) की वजह अभी ठोस रूप से नहीं पता चली है, लेकिन कुछ आदतों को बदलकर हम इस प्रकार की बीमारी से छुटकारा पा सकते हैं. ज्यादातर लोग रात में सोते वक्त तेज-तेज खर्राटे लेते हैं, जिससे न सिर्फ आपकी नींद खराब होती है बल्कि आपके साथ सोने वाले की भी नींद खराब होती है. इतना ही नहीं कई मामलों में तो खर्राटों के चलते कई लोगों की शादियां तक टूट जाती है.

हम क्यों लेते हैं खर्राटे?
बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, नींद के दौरान जब हम सांस लेते हैं और छोड़ते हैं तब हमारी गर्दन और सिर के सॉफ्ट टिशू (मुलायम ऊतक) में कंपन होता है, जिसके चलते हम खर्राटे लेते हैं. ये मुलायम ऊतक हमारी नाक के रास्ते, टॉन्सिल और मुंह के ऊपरी हिस्से में होते हैं. ऐसे में जब हम सो रहे होते हैं तो हवा के जाने का रास्ता आराम की स्थिति में होता है, तब हवा को अंदर बाहर जाने के लिए जोर लगाना पड़ता है, जिसकी वजह से मुलायम ऊतकों में कंपन पैदा हो जाता है.

खर्राटे रोकने के लिए करें ये चीजें :

– सबसे पहले तो शराब से आपको दूरी बनानी होगी. क्योंकि इसको पीने के चलते ही नींद के दौरान मांसपेशियां अधिक रिलेक्स हो जाती हैं, इसके चलते एयरवे सिकुड़कर और अधिक संकरा हो जाता है. कोशिश करें कि सोने से पहले शराब न पीएं.

इसके अलावा सोते वक्त आपको एक तरफ लेटना चाहिए. रिपोर्ट के मुताबिक, जब आप सीधे कमर पर लेटते हैं तब आपकी जीभ, थुड्डी और थुड्डी के नीचे के वसायुक्त ऊतक, ये सब आपके एयरवे में रुकावट पैदा कर सकते हैं. इसलिए एक तरफ लेटने की सलाह दी जाती है.

-इसके अलावा बाजार में खर्राटे रोकने के लिए कई उत्पाद हैं, ऐसे में नाक में लगने वाली पट्टी भी ले सकते हैं. हालांकि, इसका कोई प्रमाण नहीं है कि ये असरदार है या नही. पट्टियों के पीछे विचार ये है कि वो आपके नथुनों को खुला रखती हैं. ये तब काम करती हैं जब आप नाक से खर्राटे लेते हैं.

-नाक को साफ रखें, क्योंकि अक्सर जब आपको सर्दी हुई होती है तो आपकी नाक बंद हो जाती है. ऐसे में आपके खर्राटे लेने की संभावना अधिक है. ऐसे में सोने से पहले अपनी नाक को अच्छे से साफ रखें.

-इस सबसे बड़ा कारण वजन को भी खर्राटे लेने लिए जिम्मेदार बताया जाता है. क्योंकि अगर आपका वजन अधिक है तो आपकी ठुड्डी के पास अधिक वसायुक्त ऊतक हो सकते हैं. ये एयरवे को संकरा करके हवा के आने-जाने के रास्ते में रुकावट पैदा करते हैं.