Sun Charged Water : सन चार्ज्ड वॉटर के सेहत से जुड़े ये हैं बड़े फायदे जानें इसे बनाने का तरीका.

Sun Charged Water Benefits : सूरज की किरणों में कई ऐसे कॉम्‍पोनेंट्स होते हैं जो हमारे बायोलॉजिकल फंक्‍शन को बेहतर रखने में काफी फायदेमंद (Benefits) होते हैं. यहां तक की अगर सूरज की रोशनी में हम घंटों पीने के पानी को रखें और इसका पीने में इस्‍तेमाल करें तो यह पानी सेहत (Health) के लिए और भी फायदेमंद हो सकता है. वॉटरबेनिफिट्स हेल्‍थ के मुताबिक, दरअसल ऐसा करने से पानी सूरज की रोशनी से चार्ज हो जाता है और इसमें कई इलेक्ट्रिकल असेंशियल आ जाते हैं. इस सन चार्ज्ड वॉटर (Sun Charged Water) का इस्तेमाल करने से कई गंभीर समस्याओं में फायदा मिलता है. सन चार्ज्ड वॉटर का इस्तेमाल पीने, गरारे करने, आँख धोने, घाव धोने, या मालिश करने में किया जाता है.

इस तरह बनाएं सन चार्ज्ड वॉटर : 

सन चार्ज्ड वॉटर बनाने के लिए आप स्प्रिंग वॉटर या टैप वॉटर लें और कांच के कंटेनर में इसे रखें. ध्‍यान रहे कि आरओ वॉटर का इस्‍तेमाल फायदेमंद नहीं होता है. क्‍योंकि आरओ वॉटर में मिनल्‍स नहीं पाए जाते हैं और ये पॉजिटिवली चार्ज्‍ड होता है. अब इस पानी के कंटेनर को ढककर धूप में दिन भर के लिए रखें. ध्‍यान रहे कि इसे मिट्टी पर रखें. अगर ऐसा ना कर पाएं तो आप सीमेंट, बालू, या पत्‍थर के ऊपर रखें. 5 से 6 घंटे बाद आप इसे पीने के इस्‍तेमाल में लाएं. अगर आप इसे स्‍टोर करते हैं तो 24 घंटे के बाद इसे दोबारा से धूम में 5 से 6 घंटे के लिए रखें.

सूरज की रोशनी में सोलराइज़्ड वाटर में मौजूद एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल गुण स्किन और आंखों के लिए बहुत उपयोगी होते हैं. इस पानी से आंख और स्किन को धोने से फायदा मिलता है.

-सन चार्ज वॉटर का इस्तेमाल पाचन तंत्र को मजबूत बनाने का काम करता है. इसके सेवन से पेट की कई समस्याएं जैसे एसिडिटी, पेट के अल्सर और पेट में कीड़े से छुटकारा मिलता है.

-त्वचा की एलर्जी, चकत्ते को भी ठीक करने के लिए सन चार्ज्ड वॉटर बहुत फायदेमंद है.

-शरीर में सेलुलर स्तर की क्षति को दूर करने के लिए सन चार्ज्ड वॉटर का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद है.

-बच्चों के बिस्तर में पेशाब करने की समस्या में भी सन चार्ज्ड वॉटर का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद होता है.