The Problem Of Gas : ये 5 कारण हो सकते हैं गैस की समस्या मह‍िलाओं में डॉक्‍टर से जानें सही इलाज.

वैसे तो गैस एक आम समस्‍या है जो हर इंसान को होती है पर मह‍िलाओं में गैस बने रहने के अन्‍य कारण भी हो सकते हैं। खाना ठीक से न पच पाना या ज्‍यादा खा लेना, या ऑयली फूड खाने से गैस की समस्‍या आम है पर क्‍या हो जब ये गैस की समस्‍या लगातार बनी रहे और खासकर मह‍िलाओं में। दरअसल महि‍लाओं के शरीर में गैस का दर्द होने के अन्‍य कारण भी होते हैं ज‍िनके बारे में आप आगे इस लेख से जानेंगे और आपको सही इलाज की जानकारी भी म‍िलेगी। 

मह‍िलाओं के पेट में गैस के कारण (Causes of stomach gas in women)

मह‍िलाओं के पेट में गैस के कई कारण हो सकते हैं, आप ज‍ितना जल्‍दी कारण का पता लगा लेंगी आपको इलाज ढूंढने और अपनाने में उतना कम समय लगेगा, कुछ मुख्‍य कारण जान लें-

1. पीर‍ियड्स के कारण भी गैस की समस्‍या हो सकती है। वैसे तो पीर‍ियड्स के दौरान पेट के न‍िचले ह‍िस्‍से में दर्द उठता है, पर प‍ीर‍ियड्स के दौरान पेट में दर्द और गैस की समस्‍या भी हो जाती है।

2. हार्मोनल चेंज के कारण पीरि‍यड्स के दौरान गैस की समस्‍या हो सकती है। हार्मोनल चेंज के कारण गैस की समस्‍या उठ सकती है, अगर आप भी दवाओं का सेवन कर रही हैं या अन‍ियम‍ित पीर‍ियड्स या हार्मोनल बदलाव से गुजर रही हैं तो पेट में गैस की समस्‍या हो सकती है।

3. पेल्विक कंजेशन सिंड्रोम के कारण भी पेट में गैस की समस्‍या, पेट के न‍िचले ह‍िस्‍से में दर्द, पेट दर्द महसूस हो सकता हे। इस दौरान नसों में ख‍िंचाव बनता है ज‍िससे ये अहसास होता है क‍ि गैस बन रही है या पेट में दर्द हो रहा है। ज्‍यादातर ये समस्‍या 30 से ज्‍यादा उम्र की मह‍िलाओं में होती है।

4. प्रेगनेंसी के दौरान अक्‍सर मह‍िलाओं को पेट में गैस की समस्‍या होती है, कॉन्‍सट‍िपेशन, पेट में दर्द आद‍ि समस्‍याएं प्रेगनेंसी की तीसरी त‍िमाही से हो सकती हैं।

5. मह‍िलाओं में इस्‍ट्रोजन हार्मोन का स्‍तर बढ़ने के कारण भी पीर‍ियड्स के दौरान गैस की समस्‍या हो सकती है।

पेट में गैस की समस्‍या कैसे दूर करें? (Stomach gas treatment in hindi)

मह‍िलाओं को पेट में गैस की समस्‍या हो तो देसी नुस्‍खे आजमाने के बजाय डॉक्टर या एक्‍सपर्ट के बताए आसान उपायों को अपना सकते हैं, जैसे-

पेट में गैस की समस्‍या से छुटकारा पाने के ल‍िए आप फाइबर युक्‍त भोजन का सेवन करें, आप अपनी डाइट में फल और ताजी सब्‍ज‍ियों को शाम‍िल करें।

रेशेदार फल खाने के अलावा ठंडी तासीर वाले भोजन का सेवन करें, जैसे दही, दूध, छाछ आद‍ि।

चाय, कोल्‍ड ड्र‍िंक्‍स, कॉफी आद‍ि चीजों को कम कर दें, इन चीजों का सेवन आपको पूरी तरह से अवॉइड करना चाह‍िए।

पानी का सेवन ज्‍यादा से ज्‍यादा करें, रोजाना आपको 8 से 10 ग‍िलास पानी का सेवन करना चाह‍िए।

आप रोजाना हर्बल टी पीएं, द‍िन में कम से कम एक बार हर्बल टी का सेवन करना चाह‍िए।

पेट में गैस की समस्‍या अक्‍सर रहती है तो खाने में तेल, म‍िर्च-मसाले वाला भोजन पूरी तरह से अवॉइड करें।

अपने रूटीन में चाय का ज्‍यादा सेवन न करें, पीर‍ियड्स के दौरान आपको अपनी डाइट में देर से डाइजेस्‍ट होने वाले फूड्स को पूरी तरह से अवॉइड करना है।

आपको न‍ियम‍ित तौर पर एक्‍सरसाइज करना चाह‍िए, अपने रूटीन में योगा, वॉक, जॉग‍िंंग, मेड‍िटेशन आद‍ि को शाम‍िल करें।

अगर पीर‍ियड्स के कारण गैस की समस्‍या हो रही है तो वो जल्‍दी दूर हो जाएगी, आप रोजाना एक्‍सरसाइज करें और हेल्‍दी डाइट लें तो आपको क‍िसी भी कारण से पेट में गैस की समस्‍या ज्‍यादा नहीं सताएगी।