Hair fall : Hair growth के लिए है बेस्ट है चार आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां.

Ayurvedic tips : आयुर्वेद के अनुसार बालों का झड़ना हमारे शरीर में तीन चीजों के असंतुलन के कारण होता है. हार्मोनल असंतुलन, डैंड्रफ और केमिकल ट्रीटमेंट बालों का झड़ना ट्रिगर करते हैं और नए बालों के निकलने में बाधा उतपन्न करते हैं.

Hair fall : आजकल एक आम समस्या लोगों में देखने को मिल रही है, वो है हेयर फॉल (hair fall) की. समय से पहले बालों का झड़ना चिंता का विषय बन गया है. अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी के अनुसार, प्रतिदिन 50-100 बाल झड़ना आम है. हालांकि, प्रदूषण, तनाव, मौसमी उतार-चढ़ाव और जीवनशैली में बदलाव बाल के झड़ने का मुख्य (reason of hair fall) कारण है. इसके अलावा भी कई कारण हैं बालों के टूटने का जिसके बारे में लेख में बताया जा रहा है.

आयुर्वेद (Ayurvedic tips) के अनुसार बालों का झड़ना हमारे शरीर में तीनों चीजों के असंतुलन के कारण होता है. हार्मोनल असंतुलन, डैंड्रफ और केमिकल ट्रीटमेंट बालों का झड़ना ट्रिगर करते हैं और नए बालों के निकलने में बाधा उतपन्न करते हैं.आज लेख में हम कुछ ऐसे आयुर्वेदिक उपचारों के बारे में बात करेंगे जो आपके बालों में चमक लाने का काम करेंगे.

हेयर ग्रोथ के लिए आयुर्वेदिक टिप्स | Ayurvedic Tips for Hair Growth
– आंवला विटामिन, खनिज, अमीनो एसिड और सक्रिय फाइटोन्यूट्रिएंट्स से भरपूर है, जो स्कैल्प को पोषण देता है और बालों के स्ट्रैंड को मजबूत करता है. आंवला में आवश्यक फैटी एसिड और एंटीऑक्सीडेंट डैंड्रफ से लड़ने में मदद करते हैं और स्कैल्प से तेल और गंदगी को हटाते हैं.

– भृंगराज (Ecliptaelba), जिसे आमतौर पर “फाल्स डेजी” के रूप में जाना जाता है, विटामिन, कैल्शियम, मैग्नीशियम और आयरन के गुणों से भरपूर होता है. इसका अर्क बालों के लिए अच्छा होता है. इसको भी हेयर ग्रोथ (hair growth) के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं.

– मेथी (methi) भी बालों के लिए बहुत फायदेमंद होता है. इसके दानों को रातभर भिगोकर सिर पर लगाने के लिए महीन पेस्ट बनाया जाता है. वे आयरन, प्रोटीन और आवश्यक पोषक तत्वों का एक समृद्ध स्रोत हैं जो बालों को पोषण देते हैं और ग्रोथ को बढ़ावा देते हैं. मेथी में निकोटिनिक एसिड डैंड्रफ और बालों के झड़ने की समस्याओं का समाधान करता है.

– हाल के एक अध्ययन में पाया गया कि एलोवेरा जेल (aloevera gel) के फैटी एसिड घटकों में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो स्कैल्प की सूजन और रूसी को कम करने में मदद करते हैं. विटामिन ए, सी और ई सेल टर्नओवर में योगदान करते हैं. विटामिन बी 12 और फोलिक एसिड बालों को झड़ने से रोक सकते हैं और स्कैल्प की खुजली और तेल को कम करते हैं.