Amla side effects : फायदे की जगह केवल होता है नुकसान इन 4 बीमारियों में भूल से भी नहीं खाना चाहिए आंवले को.

Amla side effects : आंवला ठंड के मौसम में खूब खाया जाता है. हरे रंग का यह फल स्वाद में खट्टा होता है, इसको लोग कई तरीके से खाते हैं, जैसे- मुरब्बा, लड्डू, चटनी, कैंडी के रूप में. यह आंख की रोशनी, स्किन और बाल की सेहत के लिए बहुत अच्छा माना जाता है. इसमें विटामिन सी (vitamin c) भरपूर मात्रा में पाई जाती है. इसके अलावा यह खून को भी साफ करने का काम करता है. लेकिन कुछ बीमारियां है जिसमें आंवले को बिल्कुल नहीं खाना चाहिए नहीं तो सेहत हो जाती है बहुत ज्यादा खराब.

किस बीमारी में नहीं खाया जाता है आंवला | Amla is not eaten in which disease

सर्जरी से पहले- अगर आपकी किसी तरह की सर्जरी होने वाली है तो इसका सेवन 2 हफ्ते पहले से बंद कर देना चाहिए. नहीं तो इससे ब्लीडिंग का खतरा बढ़ जाता है.

किडनी की बीमारी- वहीं, जो किडनी रोग से पीड़ित हैं उन्हें तो इसका सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए. क्योंकि इसको खाने से शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ जाती है. जो किडनी की सेहत के लिए ठीक नहीं है.

लो ब्लड शुगर- अगर आप निम्न रक्त शर्करा से जूझ रहे हैं तो इसका सेवन ना करें क्योंकि इससे आपके शुगर पर बुरा असर पड़ता है. वहीं, जो लोग एंटी बायोटिक दवाओं का सेवन करते हैं उन्हें भी इसको खाने से बचना चाहिए.

सर्दी जुकाम- सर्दी जुकाम (sardi jukam) में भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए. क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है. जिसके कारण यह बॉडी टेंपरेचर को बिगाड़ देता है. इसका सेवन त्रिफला के रूप में शहद और गरम पानी के साथ करते हैं.

आंवले के फायदे | benefits of gooseberry

1- आंवला का सेवन लोग आंख की रोशनी बूस्ट करने और झड़ते और टूटते बालों को रोकने और चेहरे पर चमक लाने के लिए करते हैं. यह विटामिन सी से भरपूर होता है.

2- यूरिन इंफेक्शन (urine infection) से बचाव के लिए भी आंवले का सेवन किया जाता है यह पेशाब की मात्रा को भी नियंत्रित करता है. वहीं, आंवला अपच की भी समस्या से राहत दिलाता है.

3- खाली पेट आंवला खाने से शरीर अच्छे ढंग से डिटॉक्स हो जाता है. मेटाबॉलिज्म और इम्यून को बूस्ट करता है. यह शरीर से विषैले पदार्थों को निकालने में मदद करता है. आंवले का पानी पीने से वजन भी कंट्रोल होता है.