Best time to drink milk : अगर इस समय पीएंगे दूध तो आपको मिलेगा सबसे ज्यादा फायदा दूध आप सुबह पीते हैं या रात में.

When is the best time to drink milk : आप किसी भी समय दूध (Milk) पीते हैं तो आज से कर दीजिए बंद. दरअसल, दूध पीने का सही समय आपको जरूर पता होना चाहिए, ताकि आपको दूध पीने का ज्यादा से ज्यादा फायदा मिले.

Best time to drink milk : दूध (Milk) ऐसी चीज है जिसे इंसान पैदा होने से लेकर बूढ़ा होने तक पीता है. दूध अपने पोषक तत्वों के चलते भारतीय समुदाय में हर मां का फेवरेट बना हुआ है. इसमें मौजूद कैल्शियम, थाइमिन, निकोटिनिक एसिड, प्रोटीन और अन्य पोषक तत्व हड्डियों, मांसपेशियों को मजबूत करते हैं और दांतों के लिए अच्छे कहे जाते हैं. लेकिन दूध पीने का सही समय क्या है. दूध किस समय पिया जाए ताकि वो शरीर को सभी तरह से फायदा पहुंचा सके. इसके लिए हेल्थ एक्सपर्ट (Health Expert) की राय अलग अलग है. चलिए जानते हैं कि दूध पीने का सही समय क्या है.

एक्सपर्ट के अनुसार दूध पीने का सही समय है ये | Right way to drink milk
हेल्थ एक्सपर्ट उम्र और शारीरिक जरूरत के लिहाज से अलग अलग समय पर दूध पीने की वकालत करते हैं. दरअसल उम्र के साथ शरीर की जरूरतें और हेल्थ कंडीशन (पाचन शक्ति) बदल जाती हैं. जैसे किसी को अच्छी नींद के लिए दूध चाहिए तो किसी को हड्डियों की मजबूती के लिए दूध की जरूरत है. किसी को बॉडी बनाने के लिए दूध पीना है तो किसी को दूध के रूप में कैल्शियम की खुराक चाहिए. ऐसे में ये जानना जरूरी हो जाता है कि किस समय किसे दूध पीना चाहिए.

बच्चों की बात करें तो बच्चों को सुबह के समय दूध देना सही रहता है. दरअसल बच्चों को सुबह सुबह फुल क्रीम दूध देना चाहिए जिससे उनकी दिन भर की कैल्शियम की जरूरतें पूरी सकें. सुबह पिया गया दूध हड्डियों को मजबूत करने के साथ साथ पोटेशियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम और प्रोटीन जैसे कई पोषक तत्व देता है जिनकी दिन भर खेलते कूदते बच्चों को जरूरत होती है.

ठीक इसी तरह जो लोग बॉडी बनाना चाहते हैं या स्पोर्ट्स खेलते हैं, उनको भी दिन में ही दूध पीना चाहिए ताकि सारे दिन ऊर्जा की कमी महसूस ना हो. लेकिन वो लोग जिनकी उम्र ज्यादा है और जिनका मेटाबॉलिज्म यानी पाचन शक्ति कमजोर है, उन्हें सुबह के समय दूध ना पीने की सलाह दी जाती है क्योंकि सुबह दूध पीने पर पूरे दिन पेट में भारीपन महसूस होता है.

बुजुर्ग लोग कम एक्टिव रहते हैं इसलिए उन्हें सुबह की बजाय शाम को दूध पीना चाहिए और वो भी गाय का दूध क्योंकि वो हल्का और सुपाच्य होता है.

आयुर्वेद रात में गर्म दूध पीने की वकालत करता है जो सही भी है. लेकिन रात में दूध उन लोगों को पीना चाहिए जिनको रात को नींद सही से नहीं आती और जिनका पेट सही से साफ नहीं होता. रात में दूध पीने से शरीर में ट्रिप्टोफैन नामक अमीनो एसिड रिलीज होता है जिससे नींद आने में मदद मिलती है. रात को दूध पीने से तनाव में कमी आती है और रात को भूख भी नहीं लगती.

यहां ये ध्यान रखने वाली बात है कि जो लोग डायबिटीज से ग्रस्त हैं, उनको रात में दूध नहीं पीने की सलाह दी जाती.