Constipation Treatment : 3 आदतें ठंड में कब्ज बढ़ाती हैं डॉक्टर ने बताया ऐसा इलाज, जो खोल देगा सारी आंत.

Constipation Home Remedies: ठंड के दौरान पाचन कमजोर होने से कब्ज गंभीर हो जाती है। आयुर्वेद डॉक्टर ने कब्ज को जड़ से मिटाने वाले 5 देसी उपायों की जानकारी दी है, जो पेट की आंतें खोल देंगे।

ठंड में सर्दी-खांसी, बुखार जैसी बीमारी बढ़ जाती हैं। लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि ठंड में कब्ज भी गंभीर हो जाती है। कब्ज (Constipation) एक ऐसी समस्या है, जिसका इलाज ना करने पर बवासीर और फिशर जैसे भयंकर रोग भी हो सकते हैं। आइए जानते हैं कि ठंड में कब्ज क्यों बढ़ जाती है और इसे दूर करने के लिए क्या खाना चाहिए।

कब्ज होने का सबसे बड़ा लक्षण? जब पेट साफ ना हो पाए या बहुत परेशानी का सामना करना पड़े, तो समझें कि कब्ज हो गया है। कब्ज के अंदर पेट साफ करने के लिए प्रेशर लगाना पड़ता है और मल सख्त हो जाता है। ऐसी परेशानी दिखने पर कब्ज के घरेलू उपाय जरूर अपनाएं।

ठंड में क्यों बढ़ जाती है कब्ज?
NCBI पर छपा अध्ययन बताता है कि ठंड आने पर मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है। इसका असर पाचन तंत्र पर भी पड़ता है और वह भी कमजोर हो जाता है। इन वजहों से आंतों से मल आसानी से निकल नहीं पाता और कब्ज होने लगती है।

सर्दियों में कब्ज बढ़ाने वाली 3 आदतें

कम पानी पीने के कारण डिहाइड्रेशन

चाय-कॉफी-एल्कोहॉल का अधिक सेवन

ज्यादा भूख लगने के कारण फ्राइड फूड खाना

पपीता है कब्ज का परमानेंट इलाज

आंतों को खोलने के लिए पपीता काफी फायदेमंद है। इस फल में मल को मुलायम बनाने वाले गुण होते हैं, जिससे कब्ज खुल जाती है। कॉन्स्टिपेशन में रोजाना पपीता का सेवन करना चाहिए।

10-15 भीगी किशमिश तोड़ देंगी कब्ज
आयुर्वेद डॉक्टर वैद्य मिहिर खत्री ने कब्ज का इलाज करने के लिए किशमिश भी फायदेमंद बताई है। आप रोजाना 10 से 15 किशमिश रात में एक कटोरी पानी में भिगो दें और सुबह उठकर खाली पेट इसका सेवन कर लें।

वेजिटेबल सूप है घरेलू उपाय
वेजिटेबल सूप पीकर भी कब्ज से छुटकारा पाया जा सकता है। आयुर्वेद डॉक्टर के अनुसार, डिनर में एक कटोरी वेजिटेबल सूप पीने से मेटाबॉलिज्म और पाचन तेज हो जाता है, जिससे सुबह खुलकर पेट साफ हो जाता है।

सोने से पहले दूध और घी पीएं
दूध और देसी घी कब्ज को बवासीर या फिशर बनने से रोक देता है। रात में 1 कप दूध में 1 चम्मच देसी गाय का घी पीने से आंतें अंदर से चिपचिपी हो जाती हैं और पेट साफ करते हुए जोर नहीं लगाना पड़ता।