Diabetes Lunch Ideas : ये वाली दाल के साथ खाएं इस चीज की रोटी डायबिटीज के मरीजों का ऐसा होना चाहिए दोपहर का खाना.

कुछ लोग खाने के बेहद शौकीन होते हैं। अगर व्यक्ति को डायबिटीज है, तो उसे बहुत सोच समझकर खाना होता है। क्योंकि कुछ भी अस्वस्थ खाने से ब्लड शुगर लेवल में वृद्धि हो सकती है। घर का बना साधारण खाना और खाने का सही चुनाव करने से डायबिटीज को नियंत्रित करना आसान हो सकता है। सिर्फ चीनी ही नहीं , सामान्य रोजमर्रा के खाद्य पदार्थ भी ब्लड शुगर को बढ़ाने का कारण बन सकते हैं।

इसलिए हर भोजन को खाने से पहले बहुत सावधान रहने की जरूरत है। जिन लोगों को अपना ब्लड शुगर लेवल नियंत्रण में रखना पड़ता है, उन्हें दोपहर के भोजन के प्रति ज्यादा सर्तक होना चाहिए। लंच में उन्हें ऐसे खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए, जो उनके लिए स्वस्थ हों। यहां लंच या दोपहर के भोजन के लिए कुछ विकल्प दिए गए हैं, जो डायबिटीज में ब्लड शुगर स्पाइक को रोकने में मददगार साबित होंगे।

​लंच में खाएं हेल्दी रोटी
डायबिटीज रोगियों को चावल की तुलना में रोटी का विकल्प चुनना चाहिए। क्योंकि चावल अक्सर ब्लड शुगर बढ़ने का कारण बनते हैं। यदि आप ऐसे लोगों में से हैं, जो चावल के बिना नहीं रह सकते, तो ऐसे में विशेषज्ञ पोर्शन कंट्रोल पर ध्यान देने की सलाह देते हैं।

ऐसे लोगों को चावल का सेवन धीरे-धीरे कम करना चाहिए। आपचावल की जगह पर क्विनोआ खा सकते हैं। यह वास्तव में डायबिटीज के रोगियों के लिए बहुत सेफ है। अगर आप लंच में रोटी ले रहे हैं, तो गेहूं के बजाय ज्वार, जई, रागी, बाजरा, मूंग और हरी मटरकी रोटी का विकल्प चुनें।

​भिंडी, करेला, लौकी और कद्दू की सब्जी खाएं
डायबिटीज रोगियों के लिए स्टार्च से भरपूर खाद्य पदार्थ अच्छे माने जाते हैं। आलू, रतालू और शकरकंद को छोड़कर सभी प्रकार की सब्जियों का सेवन किया जा सकता है। भिंडी, करेला, लौकी, बैंगन, पालक, बीन्स, मशरूम, शिमला मिर्च, मटर, गाजर, लेट्यूस, फूल गोभी कुछ बेहतरीन सब्जियां हैं, जिनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होने के कारण डायबिटीज वालों को हर रोज अपने आहार में इन्हें शामिल करना चाहिए।

​प्याज-टमाटर-ककड़ी का सलाद खाएं
डायबिटीज वालों के लिए खाने का थाली में सलाह रखना सबसे अच्छा विकल्प है। सलाद भी ऐसा, जिसमें जीआई कम और फाइबर ज्यादा हो। बता दें कि लंच के साथ रेशेदार सलाद आपके भोजन को संतुलित करने में मदद कर सकता है। इतना ही नहीं इससे ब्लड शुगर में होने वाली वृद्धि को रोका जा सकता है। ब्लड शुगर करे हरदम कंट्रोल में रखने के लिए व्यक्ति प्याज-टमाटर-ककड़ी का सलाद, पत्तागोभी-गाजर का सालाद, कचुंबर और पालक का सलाद या अन्य कोई सलाद ले सकता है, लेकिन सीमित मात्रा में।

​खाएं इस तरह की दाल
डायबिटीज के मरीजों के लिए प्रोटीन की जरूरत को पूरा करने के लिए दाल का सेवन करना अच्छा तरीका है। बता दें कि प्रोटीन एक जरूरी तत्व है, जिसके प्रति रोगी को थोड़ा सावधान रहना पड़ता है। डायबिटीज वाले दोपहर के खाने में चना दाल, उड़द दाल, मूंग दाल, मसूर दाल, पालक दाल और राजमा यहां तक की छोले भी खा सकते हैं।

​डायबिटीज वालों को लंच में लेना चाहिए एक कटोरी स्प्राउट्स
स्प्राउट्स एक लो कैलोरी मील है, जिसे डायबिटीज पर नजर बनाए रखने वालों को अपने आहार में शामिल करना चाहिए। दरअसल, अंकुरित होने की प्रक्रिया दाल में स्टार्च की मात्रा को कम कर देती है और हाई फाइबर ब्लड शुगर लेवल को भी कम कर देती है। अगर आपको डायबिटीज है, तो बस एक कटोरी स्प्राउट्स में कटा हुआ प्याज, टमाटर, खीरा, नींबू का रस, चाट मसाला और नमक मिला सकते हैं।

चाहें, तो स्प्राउट्स को उबाल लें या फिर इन्हें कच्चा भी खाया जा सकता है। इसके अलावा आप एक कटोरी स्प्राउट्स के साथ स्प्राउट्स टिक्की, स्प्राउट्स रोटी, स्प्राउट्स चीला यहां तक की स्प्राउट्स करी भी बना सकते हैं।