Dry Cough Home Remedies : 5 नुस्खों को आजमाकर कर देख लीजिये सूखी खांसी ने कर दिया है परेशान तो.

Home Remedies: सूखी खांसी गीली खांसी से ज्यादा परेशान करने वाली होती है. गीली खांसी होने पर आप गले से बलगम निकालकर थोड़ा अच्छा महसूस करने लगते हैं लेकिन सूखी खांसी (Dry Cough) में ऐसा नहीं होता है. सूखी खांसी जी का जंजाल बन जाती है जिससे गले में दर्द भी होता है और जरूरत से ज्यादा असहजता भी महसूस होती है. इस खांसी में गले में किसी तरह का बलगम नहीं जमता और गले में खुजली महसूस होती है. सूखी खांसी के कारण सिर में दर्द भी होने लगता है. इसके अलावा खराब गला (Sore Throat), सीने में दर्द, जी मिचलाना, सांस फूलना और नाक बहने की दिक्कत भी हो सकती है. ऐसे में कुछ खास नुस्खे बेहद कारगर साबित हो सकते हैं. यहां जानिए किस तरह इस सूखी खांसी से छुटकारा पाया जा सकता है. सबसे अच्छी बात है कि इन नुस्खों को आजमाना भी आसान है.

सूखी खांसी के घरेलू उपाय | Dry Cough Home Remedies

चाय

सूखी खांसी में गले को नमी देने के लिए चाय पी जा सकती है. ग्रीन टी (Green Tea) इस खांसी में खासकर फायदेमंद साबित होती है. इससे गले को गर्माहट मिलती है और खराब गले में राहत महसूस होती है सो अलग.

चिकन सूप
सूखी खांसी में चिकन सूप आराम दे सकता है. इस सूप के एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण गले को राहत देने में कारगर हैं. अगर आपको सूखी खांसी के कारण बुखार महसूस हो तब भी इस सूप की गर्माहट और मसाले फ्लु को दूर करने में मददगार साबित होते हैं.

नमक का पानी
नमक के पानी से गरारा करना सूखी खांसी को कम करने में असरदार है. नमक के पानी के एंटीबैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण सूखी खांसी में रामबाण इलाज की तरह काम करते हैं. इसके साथ ही, बंद नाक और गले की खराश ठीक होती है. गरारे के लिए एक गिलास गर्म पानी में आधा चम्मच नमक मिलाएं और फिर इस्तेमाल करें.

भांप लेना

सर्दियों की शुष्क हवा सूखी खांसी की दिक्कत को बढ़ा देती है. ऐसे में कमरे में ह्यूमिडिफायर लगाना या गर्म पानी की भांप लेना अच्छा रहता है. इससे सूखी खांसी को नमी मिलती है और तकलीफ कम होने लगती है. असर बढ़ाने के लिए स्टीमर में पिपरमिंट एसेंशियल ऑयल भी मिलाया जा सकता है.

शहद

सूखी खांसी को कम करने के लिए एक चम्मच शहद (Honey) का सेवन भी अच्छा रहता है. इससे खांसी में आराम मिलता है. हालांकि, इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि एक साल तक के बच्चे को शहद ना दिया जाए.