Leg Syndrome : रात में सोते समय पैर हिलाते हैं क्या आप शरीर में हो सकती है इन 4 विटामिन की कमी.

इन 4 विटामिन की कमी के कारण सोते समय पैर हिलाते हैं लोग-Vitamin Deficiency Causes Restless Leg Syndrome 

रात में सोते समय अक्सर लोग पैर हिलाते हैं। ये काम अक्सर डायबिटीज के मरीजों का होता है लेकिन कुछ दूसरे लोग भी इस परेशानी का शिकार होते हैं। दरअसल, ये रेस्टलेस लेग्स सिंड्रोम (restless leg syndrome) के कारण हो सकता है। दरअसल, ये रेस्टलेस लेग्स सिंड्रोम के कारण (restless leg syndrome causes) ज्यादातर लोग सोते समय पैरों में बेचैनी महसूस करते हैं। ये शरीर में विटामिन और मिनरल्स की कमी के कारण हो सकता है। महिलाओं में ये आयरन की कमी का संकेत हो सकता है, तो कुछ अन्य लोगों में ये विटामिन की कमी का संकेत हो सकता है।

1. विटामिन बी 12 की कमी के कारण (Vitamin B12 Deficiency Causes Restless Leg)
विटामिन बी 12 की कमी के कारण शरीर में कई सारी चीजें प्रभावित होने लगती हैं। जैसे कि ब्लड सर्कुलेशन। दरअसल, जब आपका ब्लड सर्कुलेशन सही नहीं होता तो रात में सोते समय हमें पैरों में दर्द और बेचैनी महसूस होती है। ऐसे में विटामिन बी 12 वाले फूड्स ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बना कर इस समस्या को कम कर सकते हैं। । ये सीधे आपके शरीर एनर्जी देते हैं और इस बेचैनी से राहत दिलाते हैं। इसके लिए आपको मूंगफली, बीन्स, दाल और पालक जैसे चीजों को खाना चाहिए। हालांकि, ज्यादा कमी होने पर डॉक्टर आपको विटामिन बी 12 का सप्लीमेंट भी दे सकते हैं।

2. विटामिन सी की कमी के कारण (Vitamin C Deficiency Restless Leg Syndrome)
विटामिन सी इम्यूनिटी बूस्टर विटामिन है। इसका एंटीऑक्सीडेंट हमें कई बीमारियों से बचाव में मदद करता है। लेकिन पैरों में दर्द और बेचैनी के लिए यह अलग ही तरीके से काम करता है। दरअसल, पैरों में दर्द आयरन की कमी के कारण होता है और ये आयरन के अवशोषण को बेहतर बनाने में मदद करता है। इससे शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ती है जो ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाता है। इससे पैरों की बेचैनी कम होती है। इसलिए अगर आपको रात में पैरों में सोते समय बेचैनी होती है तो विटामिन सी से भरपूर फूड्स जैसे कि मिर्ची, अमरूद, आंवला, संतरा और नींबू का सेवन करना शुरू करें।

3. विटामिन डी की कमी के कारण(Vitamin D Deficiency Restless Leg Syndrome)
विटामिन डी पूरे शरीर में कई महत्वपूर्ण कार्य करता है।विटामिन डी पहले को एक हार्मोन की तरह काम करता है और आपके शरीर की कई कोशिकाओं में रिसेप्टर की भूमिका निभाता है। शरीरविटामिन डी कोलेस्ट्रॉल से बनाता है जब आपकी त्वचा सूरज की रोशनी के संपर्क में आती है। पर जब विटामिन डी की कमी होती है तो पैरों में बेचैनी हो सकती है। साथ ही ये मांसपेशियों का तनाव भी बढ़ा सकता है। ऐसे में आपको विटामिन डी से भरपूर चीजों का सेवन करना चाहिए या फिर इसके सप्लीमेंट्स लेने चाहिए।

4. विटामिन ई की कमी के कारण (Vitamin E Deficiency Restless Leg Syndrome)
विटामिन ई वैसे तो ब्यूटी विटामिन है लेकिन शरीर के लिए ये कई प्रकार से काम करता है। ये ब्लड वेसेल्स को हेल्दी रखता है और धमनियों में ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाता है। दरअसल, ब्लड वेसेल्स का स्वस्थ ना होना ब्लड सर्कुलेशन को प्रभावित करता है। इससे पैरों में बेचैनी होती है। इसलिए विटामिन ई से भरपूर फूड्स जैसे कि कद्दू, बादाम, मूंगफली, पीनट बटर और लाल शिमला मिर्च खाएं।