Methi moong side effects : ये 3 समस्याएं बढ़ सकती हैं शरीर में सर्दियों में न खाएं अंकुरित मेथी और मूंग.

अंकुरित मेथी और मूंग, सेहत के लिए कई प्रकार से फायदेमंद माने जाते हैं। दरअसल, इनमें हाई प्रोटीन के साथ फाइबर की भी अच्छी मात्रा होती है जो कि पेट की कई समस्याओं को दूर करने में मदद कर सकते हैं। इसके अलावा जिन लोगों को डायबिटीज और मोटापे की समस्या है उनके लिए भी इसका सेवन काफी फायदेमंद है। पर सर्दियों के मौसम में इसे खाने के कुछ नुकसान (Methi moong side effects in hindi) भी हो सकते हैं। कैसे, जानते हैं।

अंकुरित मेथी और मूंग खाने के नुकसान-Methi moong side effects in hindi
दरअसल, आयुर्वेद में शरीर को तीन भागों में बांटा गया है। जिसमें से एक है कफा, दूसरा पित्त और तीसरा वात। जब आप बहुत ठंडी चीजों को खाते हैं तो ये शरीर में कफ दोश को असंतुलित करता है। इसकी वजह शरीर में फेफड़ों की समस्याएं, नाक बहना, सर्दी और जुकाम आदि हो सकता है। इसके अलावा आपको हड्डियों से जुड़ी समस्याएं भी हो सकती हैं। अंकुरित मेथी और मूंग का सेवन शरीर में ठंडक बढ़ाता है और (Why we should avoid sprouted methi moong in winters) पित्त व वात दोषों को असंतुलित करता है। इसके ज्यादातर लोगों को यह समस्याएं हो सकती हैं।

1. सर्दी-जुकाम
सर्दी के मौसम में अंकुरित मेथी और मूंग का सेवन सर्दी-जुकाम जैसी समस्याओं को बढ़ावा देता है। दरअसल, ये शरीर को अंदर से ठंडा कर देता है। इससे आपका शरीर आसानी से सर्दी-जुकाम का शिकार हो जाता है। इसलिए, आपने सुना होगा कि सर्दी-जुकाम में स्प्राउट्स खाने को मना किया जाता है।

2. ज्यादा कफ बनना
जब आपका शरीर ठंडा हो जाता है तो शरीर में ज्यादा कफ बनने लगता है। इसके अलावा आपका इम्यून सिस्टम भी कमजोर रहता है और फिर हल्की ठंड में भी फेफड़े इंफेक्शन के शिकार हो जाते हैं और ज्यादा कफ प्रड्यूस करने लगते हैं।

3. इओसिनोफिलिया का बढ़ जाना
इओसिनोफिलिया (Eosinophils), शरीर की वो स्थिति है जब शरीर में व्हाइट ब्लड सेल्स बढ़ जाते हैं । ऐसे में शरीर की इम्यूनिटी कमजोर हो जाती है और आप जल्दी-जल्दी बीमार पड़ने लगते हैं। सर्दियों में स्प्राउट्स का ज्यादा सेवन इओसिनोफिलिया बढ़ा सकता है।