SMARTPHONE HABITS : दिमाग पर ऐसा होता है असर देर रात तक फोन चलाने से.

अगर आपको भी देर रात तक फोन चलाने की आदत है तो इसे तुरंत बदल लें. रात को लंबे समय तक फोन चलाने की आदत आपको बीमार कर सकती है. ये आंखों के साथ ही मेंटल हेल्थ के लिए भी नुकसानदेह है. जानिए रात को सोते समय मोबाइल फोन के इस्‍तेमाल के गंभीर नुकसान-

स्ट्रेस और थकान बढ़ने का कारण
देर रात तक मोबाइल चलाने का असर मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ता है. इससे थकान और तनाव बढ़ने लगता है. रात को लंबे समय तक मोबाइल चलाने से मेलाटोनिन नामक हार्मोन का लेवल कम हो जाता है. इसकी वजह से स्ट्रेस लेवल बढ़ जाता है और आप थकान महसूस करने लगते हैं.

डार्क सर्कल की समस्या
देर रात तक फोन चलाने का असर त्वचा पर भी पड़ता है. अगर आप रात को लंबे समय तक फोन यूज करते हैं, तो इससे आंखों के नीचे डार्क सर्कल की समस्या हो सकती है.
मोबाइल चलाने से आंखों पर स्ट्रेस पड़ता है.

ब्रेन हेल्थ के लिए
देर रात तक फोन यूज करने का असर हमारे दिमाग पर भी पड़ता है. लंबे समय तक फोन चलाने से मेमोरी कमजोर हो सकती है. इससे कई तरह की समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है क्योंकि, ये आदत दिमाग को कमजोर करती है.

नींद न आने की प्रॉब्लम
देर रात तक फोन यूज करने से आपको अनिद्रा की समस्या हो सकती है. रात को सोने से पहले मोबाइल यूज करने से मेलोटोनिन हार्मोन का लेवल कम हो जाता है. इससे नींद न आने की समस्या हो सकती है.

आंखों से जुड़ी समस्याएं
अधिक समय या देर रात तक फोन चलाने से आंखों से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं. इससे रेटिना पर असर पड़ता है और आंखों की रोशनी कमजोर होती है. देर रात तक मोबाइल चलाने से ग्लूकोमा का खतरा भी बढ़ जाता है.