Red rash on the thigh : जांघों पर लाल चकत्ते हो सकते हैं फंगल इंफेक्शन इनके घरेलू उपाय.

जांघ पर लाल चकत्ते : जांघ पर नजर आने वाले छोटे दाने या गोलानुमा आकार में लाल त्‍वचा, संक्रमण की एक न‍िशानी हो सकती है। मॉनसून के मौसम में अक्‍सर कुछ गलत‍ियां शरीर पर भारी पड़ जाती हैं। कपड़ों में बन रही नमी, आपकी त्‍वचा में संक्रमण पैदा कर सकती है और इसी के पर‍िणामस्‍वरूप जांघ पर लाल न‍िशान या रैशेज हो सकते हैं। त्‍वचा या कपड़ों में नमी, गीले कपड़े पहनना, क‍िसी संक्रम‍ित पौधे के संपर्क में आना या अन्‍य क‍िसी कारण से मॉनसून के दौरान लाल चकत्ते त्‍वचा पर उभर आते हैं। इस लेख में हम जांघ पर लाल चकत्ते होने पर इस्‍तेमाल क‍िए जाने वाले 5 आसान घरेलू नुस्‍खों के बारे में बात करेंगे।

1. दही और मुल्‍तानी म‍िट्टी
जांघ पर लाल चकत्ते नजर आ रहे हैं, तो दही और मुल्‍तानी मि‍ट्टी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। मुल्‍तानी म‍िट्ट में एंटीसेप्‍ट‍िक गुण होते हैं। वहीं दही में एंटीफंगल गुण पाए जाते हैं। दही में प्रोबायोट‍िक्‍स लैक्‍टि‍क एस‍िड होता है ज‍िससे फंंगल इंफेक्‍शन का इलाज क‍िया जाता है। 1 चम्‍मच दही में 1 चम्‍मच मुल्‍तानी म‍िट्टी का पाउडर म‍िलाएं। लाल चकत्तों पर इस म‍िश्रण को लगा लें। फ‍िर 30 म‍िनट बाद त्‍वचा को पानी से साफ कर लें।

2. प्‍याज और शहद
त्‍वचा में संक्रमण का इलाज करने के ल‍िए प्‍याज और शहद का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। शहद में प्‍याज का रस म‍िलाएं। इस म‍िश्रण को त्‍वचा पर लगा लें। प्‍याज और शहद दोनों में ही एंटीबैक्‍टीर‍ियल गुण पाए जाते हैं ज‍िससे इंफेक्‍शन का इलाज करने में मदद म‍िलती है। फंगल इंफेक्‍शन में भी इस म‍िश्रण का इस्‍तेमाल फायदेमंद होता है। प्‍याज के अलावा आप लहसुन का इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं। लहसुन की मदद से इंफेक्‍शन का इलाज क‍िया जाता है।

3. नीम और नार‍ियल का तेल
नीम में एंटीफंगल गुण होते हैं और नार‍ियल तेल में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। जांघ पर लाल चकत्ते नजर आ रहे हैं, तो नीम के पत्तों को साफ करके पीस लें। इसमें 2 चम्‍मच नार‍ियल का तेल म‍िलाएं। इस म‍िश्रण को जांघ पर लगाकर 15 म‍िनट के ल‍िए छोड़ दें। फ‍िर पानी से त्‍वचा साफ करके एंटीफंगल क्रीम लगा लें। इससे दर्द ठीक हो जाएगा और लाल चकत्ते ठीक होने लगेंगे।

4. चंदन पाउडर और एलोवेरा
चंदन के पेड़ की लकड़ी का इस्‍तेमाल, शरीर और त्‍वचा की कई समस्‍याओं को दूर करने के ल‍िए क‍िया जाता है। चंदन के पाउडर में एलोवेरा जेल का ताजा पल्‍प म‍िलाएं। एलोवेरा जेल की मदद से संक्रमण का इलाज क‍िया जाता है। इस म‍िश्रण को संक्रमण वाले ह‍िस्‍से पर लगाकर छोड़ दें। जब म‍िश्रण सूख जाए, तो ठंडे पानी से त्‍वचा को साफ कर लें। हफ्ते भर इस उपाय का इस्‍तेमाल करके फर्क देखने को म‍िलेगा।

5. तुलसी और हल्‍दी
तुलसी में एंटीफंगल और एंटीबैक्‍टीर‍ियल गुण पाए जाते हैं। तुलसी के पत्तों की मदद से जांघ पर नजर आने वाले लाल चकत्तों का इलाज कर सकते हैं। तुलसी के पत्तों को साफ कर लें। पत्तों को पीसकर पेस्‍ट तैयार करें। इस पेस्‍ट में चुटकी भर हल्दी म‍िलाएं। हल्‍दी और तुलसी के म‍िश्रण से इंफेक्‍शन ठीक हो जाएगा। हल्‍दी में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं ज‍िससे संक्रमण के दौरान दर्द से आपको छुटकारा म‍िलेगा। इस म‍िश्रण को त्‍वचा पर लगाकर छोड़ दें। 30 म‍िनट साफ पानी से जांघ को धो लें। इस उपाय को द‍िन में 3 से 4 बार इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

%d bloggers like this: